मेहँदी लगाने का आसान तरीका- शेडेड गोल टिक्की मेहँदी डिज़ाइन – Easy Stylish Goltikki Mehndi Design

Spread the love

प्रिय दोस्तों/ सखियों नमस्कार,

आज मेहंदी लगाना बहुत सरल काम हो गया है। पहले के समय में यह काम बहुत कठिन हुआ करता था। पहले के समय में लोग मेहंदी के पेड़ से मेहंदी के पत्ते तोड़ कर लाते थे। फिर उनको पत्तो धोते तथा पीसते थे। फिर सींक की सहायता से डिज़ाइन बनाते थे । फिर समय बदला, मेहंदी का पाउडर पैकेट में मिलने लगे। लोग पाउडर का घोल बनाकर हाथों पर सीके की सहायता से मेहंदी का डिजाइन बना लेते थे। परंतु अब के समय में बने हुए कोन आसानी से बाजार में मिल जाते हैं। बाजार से आने वाले कोन बहुत जल्दी रच जाते हैं

पहले जब घर में कोन बनाए जाते थे। तब पूरा दिन मेहंदी के कोन बनाने में ही लग जाते थे। मेहंदी का कोन बनाने के लिए पॉलिथीन साफ करना होता था। मेहंदी को छानकर तब घोल बनाना होता था। फिर मेहंदी को 2 से 3 घंटे तक भीगने के लिए रखा जाता था। परंतु अब यह सभी चीजें हम लोगों को नहीं करनी पड़ती है।

हम सभी लोग बाजार से बने बनाए कोन ले आते हैं और मेहंदी आसानी से लगा लेते हैं। अब बाजार में भी कई प्रकार के कोन मिलते हैं। बस हम लोग को अपनी जरूरत के हिसाब से कोन खरीदना होता है। बाजार में आजकल कई प्रकार के कलर कोन भी उपलब्ध हैं। कलर कोन में काला (Black Mehandi), मैरून (Maroon Mehndi), भूरा (Grey Mehandi), लाल रंग (Red Color Mehandi) ज्यादा लोकप्रिय हो गए हैं।

आजकल कलर कोन से डिजाइन बनाकर उनके बीच सुनहरा चमकीला तथा चांदी वाला स्पारकल अरेबिक बेल (Sparkle Arabic Mehndi Design) के बीच में भर दिया जाता है। अरेबिक बेल पूरे हाथ में नहीं लगाई जाती है और जितनी दूर में डिज़ाइन लगाई जाती है उस जग़ह ज्यादा भरी हुई मेहंदी लगाई जाती है। स्पार्कल वाली मेहँदी में कलर कोन से डिज़ाइन बनाना होता है। जहाँ हिना भरने की आवश्यकता होती है वहाँ पर स्पार्कल भर दिया जाता है तथा डिज़ाइन की किनारी भी स्पार्कल से बनाते हैं।

आज जो Easy Mehndi Design हम आपको बताने जा रहे हैं वह हाथ के पीछे की (Back hand) बेल है जो देखने में बहुत ही सुंदर लगती है और बहुत ही कम समय में लग जाती है। पीछे के हाथ की मेहंदी का डिजाइन (Back Hand Mehndi Design) बहुत ही सावधानी से हमें बनाना चाहिए और इसे लगाने के लिए बहुत ही सफाई की जरूरत होती है। क्योंकि हथेली के डिजाइन जब आप किसी को दिखाओगे तभी वह आपकी मेहंदी की डिज़ाइन देख पाएगा। परंतु हाथ के पीछे के डिजाइन कोई भी बहुत ही सुगमता से देख सकता है। इसलिए हमें पीछे के हाथ की डिजाइन बनाने के लिए बहुत ही सावधानी बरतनी चाहिए।

Back Hand Shaded Mehandi Design | पीछे के हाथ की बेल बनाने की विधि

  • अंगूठे की तरफ कलाई से पहले उंगली के नाखून तक एक लकीर बना लीजिए। अब दूसरी लकीर भी पहली लक़ीर जितनी बना लीजिए। एक लकीर और बना लीजिए। अब दूसरी लक़ीर को मोटा कर लीजिए। अब छोटे, घने, गोले पूरी लकीर पर बना लीजिये।
  • अब इस लक़ीर पर फूल बड़ी-बड़ी पंखुड़ियां बना लीजिए। अब पंखुड़ियों के बीच में एक-एक तिलक जैसी लकीर बना लीजिए। अब पंखुड़ियों का बाहरी किनारा मोटा कर लीजिए।
  • अब लकीर के दूसरी ओर अंगूठे की तरफ बड़ी बड़ी मोटी गोल टिक्कियां बना लीजिए। पंखुड़ियों के बाहरी किनारे को मोटा बना लीजिए। अब लकीर के दूसरी ओर बड़ी बड़ी गोल टिक्कियां पूरी लक़ीर बना लीजिए।
  • अब पंखुड़ियों को घेरती हुई हल्की गोलाकार लक़ीर बना लीजिए। इन लकीरों पर थोड़ी थोड़ी जगह छोड़ते हुए छोटी – छोटी गोल टिक्कियां बना लीजिए।
  • अब अंगूठे के तरफ पतली पतली महीन रेखाएं बनाते हुए जाली बना लीजिए। इस प्रकार आपके पीछे की हाथ की बेल तैयार हो जाती है।

धन्यवाद, आपका दिन मंगलमय हो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *